सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र को ई-हॉस्पिटल बनाएगी योगी सरकार, एक क्लिक पर मिलेगी सारी जानकारी, आपको होगा यह फायदा

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र को ई-हॉस्पिटल बनाएगी योगी सरकार, एक क्लिक पर मिलेगी सारी जानकारी, आपको होगा यह फायदा

-:विज्ञापन:-

योगी सरकार प्रदेश के जिला अस्पताल से लेकर सीएचसी तक सभी को डिजिटल हेल्थ मिशन के तहत ई-हॉस्पिटल में तब्दील करने जा रही है। प्रदेश के अस्पतालों के डिजिटाइजेशन से जहां मरीजों के इलाज-जांच की पूरी डिटेल ऑनलाइन उपलब्ध होगी, वहीं हेल्थकेयर सर्विस देने वाले संस्थानों तक मरीज की पहुंच भी आसान होगी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीते दिनों डिजिटल हेल्थ मिशन की शुरुआत की थी। प्रदेश ने भी इस दिशा में पहले ही कवायद शुरू कर दी थी। इसे अमलीजामा पहनाने के लिए यूपी सरकार ने हेल्थ सिस्टम का डिजिटाइजेशन शुरू कर दिया है। सबसे पहले सरकारी अस्पतालों, मेडिकल कॉलेजों को केंद्र सरकार के एप 'मेरा अस्पताल' पर कनेक्ट किया जा रहा है। इस एप पर मरीज अपने नजदीकी अस्पताल को खोज सकेगा। स्वास्थ्य विभाग धीरे-धीरे इसका दायरा बढ़ाने की तैयारी में है।

31 अस्‍पताल ई-हॉस्पिटल सुविधा से लैस

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य महानिदेशक डा. वेदव्रत सिंह ने बताया कि अभी 31 अस्पताल ई-हॉस्पिटल सुविधा से लैस हैं। जल्द ही सभी अस्पतालों व सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों (सीएचसी) को भी ई-हॉस्पिटल बनाया जाएगा। मरीज का पूरा ब्योरा जैसे उसको कौन सी बीमारी है और उसका कहां और क्या इलाज हुआ, यह सब ऑनलाइन मौजूद रहेगा। यूपी में स्वास्थ्य विभाग के अस्पतालों में 175 के करीब जिला व संयुक्त अस्पताल हैं। इसके अलावा 3604 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र (पीएचसी) हैं। प्रदेश में 856 सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र (सीएचसी) हैं।