रायबरेली- 1 दर्जन से अधिक जीवन लीला समाप्त करा चुका है यह पुल

  रायबरेली- 1 दर्जन से अधिक जीवन लीला समाप्त करा चुका है यह पुल

-:विज्ञापन:-

रिपोर्ट-अमित अवस्थी

गत दिवस ओवर ब्रिज से गिरे दोनों युवकों की हुई मौत

बछरावां-रायबरेली-स्थानीय कस्बे के पश्चिमी छोर पर लखनऊ प्रयागराज राजमार्ग पर बना ओवर ब्रिज अब तक 1 दर्जन से अधिक व्यक्तियों की मौत का कारण बन चुका है। निर्माण के समय इंजीनियरों की नासमझी के चलते इस ओवर ब्रिज की ऊंचाई पर इतना खतरनाक मोड बना दिया गया है, कि वह मौत का कारण बन गया है।
अन्य ओवरब्रिज की भांति इस पुल को भी समझते हुए लखनऊ की तरफ से आने वाले मोटरसाइकिल सवार अपनी स्पीड में चले आते हैं जैसे ही वह ऊंचाई पर पहुंचते हैं अचानक यू आकार का मोड उनके होशो हवास खराब कर देता है। और चाहते हुए भी वह अपने वाहन का संतुलन बरकरार नहीं रख पाते परिणाम स्वरूप नीचे जा गिरते हैं। इंजीनियरों की इस गलती का खामियाजा अब तक दर्जनों लोगों को अपनी जान गवा कर चुकाना पड़ा है।
गत दिवस इसी का खामियाजा बछरावां गल्ला मंडी निवासी महेश व रामपुर मोहिद्दीन पुर निवासी को भुगतना पड़ा। यह दोनों भी उसी मोड़ पर आकर संतुलन खो बैठे और नीचे जा गिरे।
लगातार हो रही मौतों को देखते हुए विभाग द्वारा कुछ दूरी पर जाली लगाई गई थी परंतु वह भी टूट गई बल्कि दो व्यक्ति जाली तोड़कर बाहर जा गिरे और काल के गाल में चले गए। राजमार्ग होने के कारण इस सड़क पर  ब्रेकर भी नहीं बनाया जा सकता तो सवाल यह उठता है, कि क्या निर्माण के समय लगे इंजीनियरों की गलती का खामियाजा आम जनता भुगत ती रहेगी। आखिर इन मौतों को रोकने का विकल्प क्या है।
क्षेत्र के बौद्धिक लोगों का कहना है कि या तो नियमों में ढील देते हुए पुल की चढ़ाई से पहले ब्रेकर बनवाए जाएं,अथवा पुल पर लोहे की मजबूत रेलिंग लगवाई जाए ताकि यह मौतों का सिलसिला रुक सके और अधिकारियों की लापरवाही का खामियाजा आम जनता को अपनी जान चुका करना अदा करना पड़े।