रायबरेली--समर्थक टटोल रहे मतदाताओं की नब्ज*

रायबरेली--समर्थक टटोल रहे मतदाताओं की नब्ज*

-:विज्ञापन:-

रिपोर्ट-सुधीर अग्निहोत्री

*ग्रामीणों को नव वर्ष की बधाई देने के साथ-साथ अपना टिकट पक्का होने का दावा कर चुके हैं कई प्रत्याशी*

*जनता के सुख दुख में साथ रहने का वादा करते भी दिखाई दे रहे हैं प्रत्याशी*

सरेनी-रायबरेली-नूतन वर्ष की शुरुआत के साथ ही विधानसभा चुनाव की सरगर्मी भी बढ़ने लगी है!हालांकि बसपा व सपा छोंड़ अन्य किसी भी पार्टी ने अपने पत्ते नहीं खोले हैं,लेकिन विभिन्न राजनैतिक दलों के संभावित प्रत्याशी नव वर्ष की शुरूआत से पूर्व ही ग्रामीणों से मिलने जुलने का काम निरंतर कर रहे हैं और उनके हर सुख दुख में साथ रहने का वादा करते भी दिखाई दे रहे हैं!चुनाव आयोग द्वारा तारीखों का ऐलान कर दिया गया है,लेकिन संभावित प्रत्याशियों ने नववर्ष के पहले दिन से अपनी मेहनत बढ़ा दी है!चाहे गांव-गांव जाकर लोगों को नववर्ष की बधाई देना हो या फिर ग्रामीण के निधन की जानकारी होने पर तुरंत पहुंच जाना,या फिर शांति भोज में कई दलों के नेता बडी शिद्दत से पहुंच कर अपनी उपस्थिति दर्ज करा रहे हैं!तारीखों के ऐलान के बाद दावेदार तो अधिकतर समय लखनऊ में डेरा डालकर व्यतीत कर रहे हैं तो वहीं उनके समर्थकों द्वारा गांवों में जाकर संपर्क अभियान जारी है और समर्थक मतदाताओं की नब्ज टटोल रहे हैं!सरेनी विधानसभा में कई प्रत्याशी ऐसे हैं जो ग्रामीणों को नव वर्ष की बधाई देने के साथ-साथ अपना टिकट पक्का होने का दावा कर चुके हैं!वहीं मतदाताओं की मानें तो चुनाव के समय क्या नया वर्ष क्या पुराना हमेशा एक जैसा ही दिखाई देता है,दिनभर राजी खुशी पूंछते रहते हैं और चुनाव बाद कोई किसी को नहीं जानता!

*एक दर्जन से अधिक संभावित प्रत्याशी हैं मैदान में....*

सरेनी विधानसभा सीट की बात करें तो बसपा व सपा के उम्मीदवार घोषित होने के उपरांत भी लगभग एक दर्जन संभावित उम्मीदवार चुनावी ताल ठोंक रहे हैं!जिसमें भाजपा व कांग्रेस के प्रत्याशी शामिल हैं,वहीं अन्य छोटे-छोटे दलों के प्रत्याशी भी खूब अपना दांव पेंच जुटा रहे हैं!