रायबरेली-सलोन कोतवाल का तुगलगी फरमान थाने में नही दिखनी चाहिए मीडिया

रायबरेली-सलोन कोतवाल का तुगलगी फरमान थाने में नही दिखनी चाहिए मीडिया

-:विज्ञापन:-

रिपोर्ट-प्रदीप गुप्ता


सलोन-रायबरेली-अवैध पेड़ कटान की खबर से तिलमिलाये थानाध्यक्ष ने आपराधिक घटनाओ को छुपाने के लिए मीडिया कर्मियों का  प्रवेश सलोन कोतवाली में वर्जित कर दिया है। शुक्रवार को थाने पहुंचे मीडिया कर्मियों को थाने के दीवान ने यह कहकर वापस वापस लौटने का निर्देश दे दिया कि थानाध्यक्ष ने समस्त मीडिया कर्मियों का थाना में प्रवेश वर्जित कर दिया है। ज्ञात हो कि सलोन कोतवाली क्षेत्र के औना सदरा गांव में वन माफियाओ द्वारा हरा नीम का पेड़ काटा जा रहा था।जानकारी करने पर पता चला कि पुलिस को पेड़ कटान का पैसा पहुँचा दिया गया है।जिसकी खबर इलेक्ट्रॉनिक और प्रिंट मीडिया प्रकाशित हुई थी।इसी खबर को लेकर सलोन पुलिस की जमकर थू-थू हुई थी।पूरे प्रकरण में एएसपी ने सलोन पुलिस से रिपोर्ट भी तलब की है।शुक्रवार की सुबह मीडिया कर्मी खबरों के संकलन के लिए सलोन कोतवाली गए हुए थे।इस दौरान वेस्पा फैक्ट्री में हुई चोरी के प्रकरण को जानने के लिए थाने के दीवान संजय कुमार शर्मा से जानकारी मांगी गई।जिसपर हेड मोहर्रिर संजय शर्मा ने कहा कि अब सलोन थाने से किसी भी घटना की सूचना मीडिया कर्मियों को नही दी जाएगी।बड़े साहब का आदेश हुआ है कि मीडिया कर्मियी को थाने में प्रवेश वर्जित कर दिया जाये।ज्ञात हो कि आज से चार वर्ष पूर्व तत्कालीन कोतवाली प्रभारी ने मीडिया कर्मियों के थाने आने पर रोक लगाई थी।तब उनके इसी बर्ताव के चलते उन्हें यहां से हटाया गया था।ठीक चार साल बाद अंग्रेजो की हुकूमत का कानून थानाध्यक्ष पंकज त्रिपाठी मीडिया कर्मियों पर थोप रहे है।इस सम्बन्ध में थानाध्यक्ष पंकज त्रिपाठी ने बताया कि उनके द्वारा मीडिया कर्मियों के प्रवेश वर्जित करने का आदेश दिया गया है