रायबरेली-आशियाना गिरने से खुले आसमान के नीचे रहने को मजबूर यह परिवार

रायबरेली-आशियाना गिरने से खुले आसमान के नीचे रहने को मजबूर यह परिवार

-:विज्ञापन:-

रिपोर्ट-अमित अवस्थी

 बछरावां- रायबरेली -विकासखंड के पस्तौर  ग्राम सभा का रहने वाले  अयोध्या प्रसाद पाल उर्फ भंडारी पुत्र गंगा प्रसाद आज खुले आसमान के नीचे अपने बीवी बच्चों के साथ दिन गुजारने पर मजबूर हैं प्रदेश व केंद्र की सरकार हर गरीब को छत देने का ढिंढोरा पीट रही है परंतु प्रधान से लेकर खंड विकास अधिकारी तक की फरियाद सुनने को तैयार नहीं है अयोध्या प्रसाद पाल ने बताया कि काफी दिन पूर्व उनका मकान गिर गया था एक झोपड़ी में वह अपने बच्चे सोनम व शिवा पत्नी शिव देवी के साथ लेटा हुआ था कि अचानक वह भी भरभरा कर गिर गया किसी  तरह उसने और उसके परिवार ने जान बचाया उस गरीब का कहना है कि वह प्रधान के दरवाजे से लेकर ब्लॉक तक लंबी दौड़ लगा चुका है परंतु उस गरीब की सुनने वाला कोई नहीं है जबकि अगर जांच की जाए तो ग्राम सभा के अंदर अनेकों आपात्र लोग मिलेंगे जिन्हें आवास दिए जा चुके हैं मगर अयोध्या प्रसाद ने जिले के आला अधिकारियों से आवास की मांग की है