रायबरेली- बीमारी से ग्रसित होकर एक ब्यक्ति ने गांव से दूर आम के पेड़ की डाल में रस्सी बांधकर फांसी से झूल,,,

रायबरेली- बीमारी से ग्रसित होकर एक ब्यक्ति ने गांव से दूर आम के पेड़ की डाल में रस्सी बांधकर फांसी से झूल,,,

-:विज्ञापन:-

रिपोर्ट-सागर तिवारी
मो-8742935637


ऊंचाहार-रायबरेली-कोतवाली क्षेत्र के अरखा गांव निवासी एक व्यक्ति काफी समय से ऊंचाहार। कोतवाली क्षेत्र के अरखा गांव निवासी एक व्यक्ति काफी समय से बीमारी से ग्रसित था। काफी उपचार के बाद भी राहत नहीं मिल रही थी। जिससे तंग आकर उसने गांव से दूर आम के पेड़ की डाल से रस्सी बांधकर फांसी से झूल कर आत्महत्या कर ली। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है।
      उक्त गांव निवासी महेश कुमार काफी समय से कैंसर की बीमारी से ग्रसित था। काफी उपचार के बावजूद भी राहत नहीं मिल रही थी। आर्थिक तंगी के चलते अच्छे मेडिकल कॉलेजों में इलाज नहीं करा पा रहा था। बीमारी से तंग आकर सोमवार की भोर में गांव से दूर आम के पेड़ से रस्सी बांधकर फंदा गले में डाल कर उससे झूल कर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। जिसके तीन बेटी और एक बेटा है। पिता की मौत के बाद परिजनों में कोहराम मच गया। की सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। कोतवाल शिव शंकर सिंह ने बताया कि युवक ने बीमारी से तंग आकर आत्महत्या की थी। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज विधिक कार्यवाही की जा रही है। कर आत्महत्या कर ली। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है।
      उक्त गांव निवासी महेश कुमार काफी समय से कैंसर की बीमारी से ग्रसित था। काफी उपचार के बावजूद भी राहत नहीं मिल रही थी। आर्थिक तंगी के चलते अच्छे मेडिकल कॉलेजों में इलाज नहीं करा पा रहा था। बीमारी से तंग आकर सोमवार की भोर में गांव से दूर आम के पेड़ से रस्सी बांधकर फंदा गले में डाल कर उससे झूल कर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। जिसके तीन बेटी और एक बेटा है। पिता की मौत के बाद परिजनों में कोहराम मच गया। की सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। कोतवाल शिव शंकर सिंह ने बताया कि युवक ने बीमारी से तंग आकर आत्महत्या की थी। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज विधिक कार्यवाही की जा रही है।