इस आरोपी के काले कारनामो से दहल जाएगा आपका भी दिल, नाम है अंशुमान और हड़प लिए ब्लैकमेलिग से करोड़ो रूपये......

इस आरोपी के काले कारनामो से दहल जाएगा आपका भी दिल, नाम है अंशुमान और हड़प लिए ब्लैकमेलिग से करोड़ो रूपये......
इस आरोपी के काले कारनामो से दहल जाएगा आपका भी दिल, नाम है अंशुमान और हड़प लिए ब्लैकमेलिग से करोड़ो रूपये......
लखनऊ-- लखनऊ के सूर्यनगर कालोनी राजा जी पुरम निवासी सूर्यकांत शुक्ला ने वर्ष 2013 में  अंशुमान पांडेय पुत्र आनंद कुमार पांडेय पर जान लेवा हमले का मुकदमा दर्ज करवाया था जिसमे अंशुमान पर गोली मारने का आरोप  है दरअसल पीड़ित सूर्यकांत शुक्ला  एक शिक्षा संस्थान जो गोमती नगर में स्थित हैं उसमें लाइब्रेरियन के पद पर तैनात थे उसी दौरान संस्था के सचिव अंशुमान पांडेय से वेतन मागने को लेकर उपजे विवाद में अंशुमान ने जानमाल की धमकी दी साथ ही कई राउंड फ़ायरींग भी की जिसमे सूर्यकांत के कंधे व कमर पर गोली लगी। इसी मामले में वह फरार चल रहा था जिसे बनारस से गिरफ्तर कर हाल में गोमती नगर पुलिस के सुपुर्द कर दिया गया है।

ये तो मात्र बानगी है हम आपको आरोपी अंशुमान के कुछ ऐसे राज से पर्दा हटाएं जिसे आप सोच भी नही सकते

अंशुमान पांडेय काफी शातिर ब्लैकमेलर भी है यह हम नही हमारे हाथ लगे कुछ दस्तावेज है जो इसे ब्लैकमेलर की उपाधि दे रहे है। इस पर ऐसे ऐसे आरोप लगाए जा रहे है जिसे देख कर आपकी आँखे फ़टी की फटी रह जाएंगी । इस पर अश्लील फोटो  बनाकर नामीगिरामी हस्तियों के परिजनों को ब्लैक मेल कर करोड़ो रूपये हथियाने का भी आरोप दर्ज करवाया गया है। 

यूपी ही नही झारखंड व बिहार के कारोबारी भी अंशुमान से है परेशान

दरअसल  आरोपी अंशुमान पांडेय से यूपी में ही नही झारखंड व बिहार के लोग भी त्रस्त है । अंशुमान पांडेय पर तस्वीरों में छेड़छाड़ कर आपत्तिजनक। तस्वीर बनाकर शोशल मीडिया में बदनाम करने की धमकी देकर पैसे एढने वाले अंशुमान से झारखंड बिहार के कई कारोबारी त्रस्त थे व पहले इसके जरिये सम्पन्न लोगों से संपर्क करता था और सरकारी महकमें में अपनी पैठ बताकर उन्हें विस्वास में लेता था और यही से फिर  उसके गुनाहों की शुरुवात होने लगती थी वह संपर्क में आये धनाढ्य लोगो के बहु बेटियों की तस्वीरे छेड़छाड़ कर उनकी आबरू सरेआम उछालने के नाम पर करोड़ो रूपये  ऐठना इसका पेशा बन गया। रोजाना बहु बेटियों को बदनाम करने के नाम पर सुबह से ही अपने ब्लैक मेलिग के काम पर लगकर अकूत सम्प्पति का मालिक बन बैठने का काम करता है।

किसकी मिली आख़िर इसको सह और यह बन गया गुनाहों का बाजीगर

आरोप है कि  अंशुमान को उसकी माँ की सह प्राप्त है और उसके मास्टरमाइंड दिमाग से उसे कई राह मिलते है अपराध में उसकी माँ की भी भूमिका है यह आरोप है नही बल्कि बैलकमेलिग का शिकार हुए उसके ही रिस्तेदार ने आरोप लगाया है। पुलिस को इस ओर भी अब जांच शुरू करनी चाहिए ताकि उसके गुनाहों से पर्दा उठ सके और  जेल से छूटने के बाद अंशुमान पांडेय और किसी दूसरे को ब्लैकमेल न कर सके।

फेसबुक पेज को लाइक करना बिल्कुल न भूले