रायबरेली--मवेशियों के टीकाकरण पर लग गया ग्रहण

रायबरेली--मवेशियों के टीकाकरण पर लग गया ग्रहण

-:विज्ञापन:-

रिपोर्ट-शिवम अवस्थी
  मो-9451782183


महराजगंज-रायबरेली-गौ संरक्षण को लेकर संजीदा रही प्रदेश की योगी सरकार कोरोना महामारी में गौसंरक्षण के लक्ष्य से भटक गयी है। महामारी के चलते इस बार गौवंशों सहित मवेशियों को रोगमुक्त रखने के लिए प्रतिवर्ष चलाये जाने वाले टीकाकरण अभियान पर भी ग्रहण लग गया है। इस बार मवेशियों को बरसात के चलते होने वाली बीमारियों से पूर्व लगने वाले टीके नही लगाये जा सके हैं।
बताते चलें कि गौवंशों  व मवेशियों को लेकर योजनाएं चलाकर उनकी रक्षा के लिए कटिबद्ध प्रदेश  की योगी सरकार इस बार कोराना महामारी में उनकी योजनाओं को धरातल पर लाने में कमजोर दिखी। बरसात के समय मवेशियों को होने वाले खुरपका, मुंहपका, गलाघोटू आदि बीमारियों से बचाने के लिए अप्रैल माह में अभियान चलाकर टीकाकरण किया जाता रहा है लेकिन इस बार टीकाकरण के लिए वैक्सीन की व्यवस्था नही की जा सकी जिसके चलते इस बार मवेशियों का टीकाकरण नही हो सका है। मामले में जब पशु चिकत्सालय के अधीक्षक डा0 अजय कनौजिया से बात की तो उन्होने बताया कि कोरोना महामारी के कारण इस बार वैक्सीन प्राप्त नही हो सकी जैसे ही वैक्सीन उपलब्ध होगी अभियान चलाकर मवेशियों का टीकाकरण कराया जायेगा। इसके अलावां जानवरों की ओपीडी सुचारू रूप से चल रही है हमारे यहां 30 रूपये में क्रत्रिम गर्भाधान व 5 रूपये के पर्चे पर जानवरों का इलाज उपलब्ध है।
कर्मचारियों का है टोटा
पशु चिकित्सालय महराजगंज में कर्मचारियों का टोटा है। मामले को लेकर जब अधीक्षक अजय कनौजिया से बात की गयी तो उन्होने बताया कि फिलहाल तो यहां पर मेरे अलावां एक ही चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी उपलब्ध है। जबकि एक डाक्टर/अधीक्षक, एक फर्मासिस्ट व तीन चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी कम से कम एक अस्पताल में होने आवश्यक  हैं। श्री कनौजिया ने कहा कि जैसे तैसे कर्मचारियों के अभाव में पशु पालकों की सेवा की जा रही है।