रायबरेली-गड्ढों में तब्दील रुस्तमगंज - रघुनाथ खेड़ा सम्पर्क मार्ग,चलना हुआ दुश्वार

रायबरेली-गड्ढों में तब्दील रुस्तमगंज - रघुनाथ खेड़ा सम्पर्क मार्ग,चलना हुआ दुश्वार

-:विज्ञापन:-

रिपोर्ट-अंगद राही

गड्ढों में तब्दील इस सम्पर्क मार्ग पर राहगीर आए दिन होते हैं दुर्घटना का शिकार

शिवगढ़-रायबरेली-जहां एक ओर प्रदेश की योगी सरकार सड़कों को गड्ढा मुक्त करने का दावा कर रही है तो वहीं दूसरी शिवगढ़ क्षेत्र में प्रदेश सरकार का सड़कों को गड्ढा मुक्त करने का दावा हवा हवाई साबित हो रहा है। जर्जर सम्पर्क मार्गो की मरम्मत के लिए क्षेत्र के लोगों ने संबंधित अधिकारियों एवं जनप्रतिनिधियों से दर्जनों बार शिकायतें की किंतु नतीजा रहा। ग्रामीणों की माने तो हर बार सड़कों की रिपेयरिंग के नाम पर खेल किया जाता है और जिम्मेदार मूकदर्शक बने बैठे रहते हैं। जिसका जीता जागता उदाहरण पीडब्ल्यूडी विभाग द्वारा बनाया गया बांदा-बहराइच हाईवे से जुड़ा रुस्तमगंज वाया रघुनाथ खेड़ा मजरे असहन जगतपुर सम्पर्क मार्ग है। भ्रष्टाचार का यह आलम है कि 3 किलोमीटर लम्बे इस सम्पर्क मार्ग पर दिखावे के लिए 2 वर्ष पूर्व करीब एक - एक किलोमीटर दोनो ओर सड़क की रिपेयरिंग की गई और बीच में लक्ष्मनपुर के पास बगैर रिपेयरिंग के ही सड़क छोड़ दी गई। जिसके चलते बीच में सड़क पूरी तरह से गड्ढों में तब्दील हो गई है। जब कि इस सम्पर्क मार्ग से हसवां पड़ीरा,असहन जगतपुर, भैरमपुर ,उचौरी,उदवत खेड़ा, गोविंदपुर ,पहनासा, रघुनाथ खेड़ा, लक्ष्मनपुर, रुस्तम गंज सहित 1 दर्जन से अधिक गांवों का दिन रात आवागमन रहता है। इस जर्जर सम्पर्क मार्ग की मरम्मत ना होने पर असहन जगतपुर पूर्व प्रधान देवतादीन पासवान,ग्रामीण सर्वेश कुमार, मनोज कुमार, महेश शर्मा, रामसमुझ,राजेश कुमार,शिवराज सहित ग्रामीणों ने प्रदर्शन करते हुए कहा कि यदि जल्द ही सड़क की रिपेयरिंग नहीं हुई तो आंदोलन किया जाएगा। इस बाबत जब पीडब्ल्यूडी विभाग के संबंधित जेई से सम्पर्क करने का प्रयास किया गया तो उनसे बात नहीं हो पाई।