रायबरेली--रोजमर्रा की जरूरतों का सामान पाकर भावुक हुए ग्रामीण

रायबरेली--रोजमर्रा की जरूरतों का सामान पाकर भावुक हुए ग्रामीण

-:विज्ञापन:-

रिपोर्ट-रोहित मिश्रा
मो--76189 96633



अवधेश बहादुर सिंह मेमोरियल सेवा संस्थान के बैनर तले बलीपुर बहराना में हुआ वितरण

डलमऊ (रायबरेली)। किसी विपदा का मुकाबला सरकार अकेले नहीं कर सकती इसके लिए समाज का साथ होना बहुत जरूरी है। कोरोना की दूसरी लहर में लोगों की तन मन धन से मदद में जुटे विकास कंस्ट्रक्शन कंपनी के मालिक विकास सिंह और उनकी पत्नी जूही सिंह ने उन तमाम गरीब परिवारों को राशन और कोविड-19 किट वितरित की, जिनका पुरसाहाल लेने वाला अभी तक कोई नहीं था। कोरोना की दूसरी लहर में रोज खाने कमाने वालों की हालत बद से बदतर हो गई है। इन परिवारों के सामने जीविका का संकट पैदा हो गया। ऐसे में विकास सिंह और जूही सिंह अपने निजी धन से गरीबों की मदद कर रहे हैं। इससे पूर्व कोरोना की पहली लहार भी यह दोनों लोग मेहनत से कमाई गई गाढ़ी कमाई को जरूरतमंदों पर खर्च कर चुके हैं। 
         बुधवार को विकास सिंह अपनी पत्नी जूही सिंह के साथ डलमऊ ब्लाक क्षेत्र के बलीपुर बहराना गांव पहुंचे। अपने पैतृक गांव पहुंचकर विकास सिंह ने अपने बाबा की स्मृति में स्थापित अवधेश बहादुर सिंह मेमोरियल सेवा संस्थान के बैनर तले सैकड़ों गरीबों को राशन किट वितरित की। यही नहीं जरूरतमंदों को उन्होंने कोरोना मेडिसिन किट भी दी। जूही सिंह ने इस दौरान मौजूद बच्चों को केले और बिस्किट के पैकेट वितरित किए। विकास सिंह ने यह वितरण अपने परिजनों के साथ मिलकर किया। कोविड-19 का पालन करते हुए मौके पर मौजूद  जरूरतमंदों को राहत सामग्री वितरित की गई। यह वितरण  रामनरेश सिंह, रामबरन सिंह, बृजभान सिंह, राजन सिंह, राजेश सिंह, धुन्ना सिंह, वीरेंद्र सिंह आदि द्वारा किया गया। इस दौरान राम लखन, अमन,  
सफाई कर्मचारी दीपक यादव आदि मौजूद रहे। राशन किट प्राप्त करने वाली रामलली, उर्मिला, विमलारती, रामरती, राम दुलारी, प्रेमा सहित सैकड़ों महिलाओं ने विकास सिंह और जूही सिंह को धन्यवाद दिया। महिलाओं ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर में हुए लॉकडाउन की वजह से घरों के चूल्हे जलने मुश्किल हो गए थे, लेकिन इस सामग्री से काफी राहत प्राप्त होगी। विकास सिंह ने कहा कि यह संकट का समय है और सबको देश के साथ खड़े होना चाहिए। उन्होंने कहा कि ईश्वर ने जो दिया है उसी से गरीबों के पेट भरने का काम किया जा रहा है। इस दौरान उन्होंने बीमार लोगों को दवाइयों के किट भी प्रदान की। जूही सिंह ने कहा कि गरीबों की सेवा ही मानवता की सच्ची सेवा है। जरूरतमंदों की सेवा से आत्मसंतुष्टि का भाव मिलता है। उन्होंने कहा कि वह और उनका परिवार हर जरूरतमंद की सेवा के लिए सदैव तत्पर है। यहां यह भी उल्लेखनीय है कि पिछले वर्ष के दौरान भी जूही सिंह और विकास सिंह ने ग्रामीणों की दिल खोलकर मदद की थी।