STORY-एक अजीबो गरीब शौक ,जिसने बना दिया लेखक और लिखवा दिया दूसरी किताब

STORY-एक अजीबो गरीब शौक ,जिसने बना दिया लेखक और लिखवा दिया दूसरी किताब

-:विज्ञापन:-

रिपोर्ट-ओम द्विवेदी(बाबा)
मो-8573856824


रायबरेली-जिले के एक छोटे से गांव बेनीकोपा ( कबीर वैनी ) के रहने वाले युवा लेखक अभय प्रताप सिंह ने अपनी दूसरी किताब " द माइंड " एक प्रेरणादायक संघर्ष लिख कर इस छोटे से उम्र में एक अलग सी पहचान बनाते हुए इतिहास बना दिए। इस किताब को प्रकाशित करने में बुक रिवर्स प्रकाशन के डायरेक्टर वरुण मिश्रा का अहम सहयोग रहा , डायरेक्टर ने ये भी बताया की ये किताब लेखक अभय प्रताप सिंह की दूसरी किताब थी और लेखक अपने पहले किताब " कहानी हर विद्यार्थी की नई उम्मीद " की सारी कमाई आजीवन दान करके एक अहम योगदान उन बच्चों के लिए किए थे जो बच्चे किसी कारणवश पढ़ने में


 असमर्थ थे। अगर  " द माइंड " एक प्रेरणादायक संघर्ष पुस्तक की बात करें तो ये किताब एक मोटिवेशनल पुस्तक है और ये किताब संघर्षों से भरी हुई है जो की विद्यार्थी जीवन के लिए बहुत ही लाभकारी है । सिर्फ़ यही किताब ही नहीं लेखक अभय प्रताप सिंह द्वारा लिखी गई उनकी पहली पुस्तक  " कहानी हर विद्यार्थी की नई उम्मीद भी " बच्चों के लिए लाभकारी थी और उन्ही के हित के लिए लिखी गई थी।