रायबरेली-विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस पर संगोष्ठी का हुआ आयोजन

रायबरेली-विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस पर संगोष्ठी का हुआ आयोजन

-:विज्ञापन:-

रिपोर्ट-केशवानंद शुक्ला


रायबरेली--उ0प्र0 राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, लखनऊ तथा माननीय अध्यक्ष, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण/जनपद न्यायाधीश, रायबरेली श्री अब्दुल शाहिद के दिशा-निर्देशन में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, रायबरेली के तत्वाधान मे मनाये जाने वाले आजादी का अमृत महोत्सव के अन्तर्गत विशेष विधिक जागरुकता अभियान चलाया जा रहा है। विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस के अवसर पर जिला चिकित्सालय रायबरेली में संगोष्ठी व विशेष विधिक जागरुकता शिविर आयोजित किया गया। इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि अपर जनपद न्यायाधीश प्रथम श्री जैगम उद्दीन द्वारा बताया गया कि मानसिक रोग से बचाव के लिए प्रत्येक व्यक्ति को स्वयं को सकारात्मक व सामाजिक गतिविधियों में संलग्न करना चाहिए। बदलती जीवन शैली बढ़ती मानसिक बीमारियों के लिए महत्वपूर्ण कारक है। कानून में मानसिक रोगियों के अधिकारों के बारे में पर्याप्त उपबन्ध दिये गये है। मानसिक रोगियों को उपेक्षित नहीं किया जाना चाहिए। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव सुमित कुमार द्वारा बताया गया कि वर्तमान में मानसिक बीमारियाँ समाज के लिए बहुत बड़ी चुनौती है। मानसिक रोगी व्यक्तियों के लिए निःशुल्क विधिक सहायता जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा उपलब्ध करायी जाती है। जिला अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डा0 एन0 के0 श्रीवास्तव द्वारा बढ़ती मानसिक बीमारियों का कारण अपेक्षा, उपेक्षा व संवादहीनता को बताया गया। डा0 संदीप सिंह द्वारा बढ़ती मानसिक बीमारियों के कारणों व बचाव के तरीको पर चर्चा की गयी। जिला अस्पताल के मनोचिकित्सक डा0 प्रदीप सिंह, डा0 योगेन्द्र काउन्सलर अमित कुमार द्वारा भी मानसिक स्वास्थ्य के बारे में विस्तार से बताया गया। सदर तहसीलदार श्रीमती अमिता यादव द्वारा भी मानसिक स्वास्थ्य दिवस मनाये जाने के कारणों व उद्देश्यों पर चर्चा की गयी। इस अवसर पर रायबरेली शहर के चिकित्सक, विधि अध्यापक, विधि छात्र, पराविधिक स्वयं सेवक, समाजिक संगठन के लोग व जिला अस्पताल व जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के कर्मचारीगण उपस्थित रहे। आज विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस के अवसर पर जनपद के सभी प्राथमिक व सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों में भी विधिक जागरुकता शिविर आयोजित किये गये।