लखनऊ में बेकाबू हुआ कोरोना, 2213 नए संक्रमित मिले, एक्टिव मरीजों की तादाद 10 हजार पार

लखनऊ में बेकाबू हुआ कोरोना, 2213 नए संक्रमित मिले, एक्टिव मरीजों की तादाद 10 हजार पार

-:विज्ञापन:-

राजधानी लखनऊ में कोरोना संक्रमण बेकाबू होता जा रहा है। गुरुवार को संक्रमण के सर्वाधिक 2213 नए मामले मिले, जिनके बाद शहर में सक्रिय मरीजों की संख्या दस हजार को पार कर गई। बीते 24 घंटे में अलीगंज में सर्वाधिक 426 संक्रमित मिले हैं, इसके बाद 343 मामले चिनहट में पाए गए।

संक्रमित पाए गए लोगों में बड़ी संख्या कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग और दूसरे राज्यों से लौटने वालों की है। अलीगंज क्षेत्र में बीते कई दिनों से करीब 300 मामले सामने आ रहे थे, जहां 24 घंटे के अंदर ये मामले करीब सवा गुना बढ़कर 426 पहुंच गए। इसी तरह चिनहट में 343, आलमबाग में 263 और इंदिरानगर इलाके में 250 लोग कोरोना की चपेट में आए हैं। बीते 24 घंटों में 137 लोगों ने वायरस को मात दी है। फिलहाल 10241 सक्रिय मरीजों का अस्पताल और घरों में इलाज चल रहा है। लगातार मरीजों के सामने आने से स्वास्थ्य अधिकारियों के पसीने छूट रहे हैं।

कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग से मिले 648 मामले

स्वास्थ्य विभाग संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए संक्रमितों की लगातार कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग करवा रहा है। बीते 24 घंटे में इसके जरिए सर्वाधिक 648 संक्रमितों की पहचान हुई। यात्रा से लौटे 269 लोग पॉजिटिव पाए गए हैं। अस्पतालों में ऑपरेशन से पहले जांच में 55 संक्रमित मिले हैं। सर्दी-जुकाम, बुखार और गले में दर्द के लक्षण वाले लोगों की जांच में 277 कोरोना संक्रमित मिले हैं। छह गर्भवती महिलाओं को भी वायरस ने चपेट में लिया है।

जेल में पहुंचा वायरस तीन कैदी पॉजिटिव मिले

तीसरी लहर में कोरोना वायरस अब जेल तक पहुंच गया है। आदर्श कारागार के तीन कैदियों में संक्रमण की पुष्टि हुई है। जेल प्रशासन ने इन तीनों कैदियों को आइसोलेट करा दिया है। जेल डॉ. हेमंत कुमार, फार्मासिस्ट केसरी नन्दन की देखरेख में इलाज चल रहा है। जेलर सीपी त्रिपाठी के मुताबिक कैदियों को मामूली जुकाम, खांसी और बुखार के लक्षण हैं। आदर्श जेल 32 कैदी एक माह के गृह अवकाश पर अपने-अपने घरों को गए थे। जेल में लौटने पर इनकी जांच कराई गई।

पॉश इलाकों पर संक्रमण की सर्वाधिक मार

कोरोना संक्रमण राजधानी के चार पॉश इलाकों में कहर बरपा रहा है। इनमें लगातार मरीज बढ़ रहे हैं। अफसर प्रभावित इलाकों में वायरस की रफ्तार रोकने में पूरी तरह नाकाम हो रहे हैं। कोरोना प्रोटोकाल की धज्जियां उड़ने से भी वायरस लगातार पैर जमाता जा रहा है। जनवरी की शुरुआत से कोरोना संक्रमण ने रफ्तार पकड़ी है, जो लगातार बढ़ता रहा है। वायरस सबसे अधिक अलीगंज, इंदिरानगर, चिनहट और आलमबाग में फैल रहा है। इन इलाकों में कोविड प्रोटोकाल का पालन नहीं हो रहा है। न लोग मास्क लगाकर निकल रहे हैं। न बाजार, मॉल आदि में भीड़ घट रही है। स्वास्थ्य विभाग के अफसर भी ठोस कदम नहीं उठा रहे हैं। सरकारी अस्पतालों के जांच केंद्रों में लोगों की लंबी-लंबी कतारें हैं। ऐसे में लोग जांच से भी कतरा रहे हैं, नतीजतन संक्रमण बढ़ रहा है। इस संबंध में सर्विलांस ऑफिसर मिलिंद वर्धन का पक्ष लेने के लिए उनसे संपर्क किया गया, लेकिन बात नहीं हो सकी। वहीं कमांड हॉस्पिटल में 61 लोग संक्रमित पाए गए हैं।