रायबरेली-लालगंज तहसील क्षेत्र में अघोषित विद्युत कटौती से मचा हाहाकार*

रायबरेली-लालगंज तहसील क्षेत्र में अघोषित विद्युत कटौती से मचा हाहाकार*
रायबरेली-लालगंज तहसील क्षेत्र में अघोषित विद्युत कटौती से मचा हाहाकार*

-:विज्ञापन:-

रिपोर्ट-सुधीर अग्निहोत्री


*कांग्रेस पंचायती राज विभाग के जिलाध्यक्ष राजकिशोर सिंह बघेल ने ऊर्जा मंत्री से की शिकायत*

*बिजली आपूर्ति संबंधी सरकार के सभी दावे साबित हो रहे हैं हवा हवाई*

लालगंज-रायबरेली-बिजली के अघोषित कटौती से चारों ओर हाहाकार मचा हुआ है।वहीं ऐहार के पूर्व प्रधान राजकिशोर सिंह बघेल ने इसी को लेकर ऊर्जा मंत्री को मेल,ट्वीट एवम पत्र भी लिखा है!उन्होंने ऊर्जा मंत्री को लिखे पत्र में लिखा कि आपूर्ति संबंधी सरकार के सभी दावे हवा हवाई साबित हो रहे हैं।दिन में कटौती से कृषि कार्य व उद्योग धंधे बाधित हो रहे हैं।वहीं रात्रिकालीन कटौती से लोगों की नींद हराम है! वहीं सरकार जहां एक ओर ग्रामीण क्षेत्र में 18 घंटे की आपूर्ति का

 दावा कर रही है।वहीं वर्तमान समय में इसकी आधी आपूर्ति भी नहीं हो पा रही है!भीषण गर्मी व लू में लोगों को बिजली की अंधाधुंध कटौती का सामना करना पड़ रहा है!आपूर्ति के समय बार-बार होने वाली रोस्टिंग से भारी समस्या पैदा हो रही है!दिन में लगातार हो रही कटौती से मड़ाई का कार्य व व्यापारियों के व्यवसाय पर प्रभाव पड़ रहा है।कोरोना की मार के दौरान आर्थिक तंगी से व्यापारियों पर बिजली कटौती किसी कहर से कम नहीं है।व्यापारी अब आर्थिक कंगाली की ओर बढ़ रहे हैं!वहीं कृषि कार्य भी प्रभावित हो रहा है।रात्रिकालीन कटौती से आम लोगों का हाल बेहाल है!गर्मी में शाम सात बजे बिजली चली जाती है फिर आने का कोई समय नहीं है,रात में लोगों की नींद खराब हो रही है,जिसके चलते उनमें अनिद्रा चिड़चिड़ापन आदि बीमारियां घर कर रही हैं।लोगों ने सरकार से मांग की है कि पूर्व की भांति विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित की जाए,जिससे व्यापारियों के साथ-साथ किसानों व आम लोगों को भीषण गर्मी के समय में कठिनाइयों का सामना न करना पड़े।