रायबरेली--कांग्रेस विधायक अदिति की बगावत भी बीजेपी के नही आई काम

रायबरेली--कांग्रेस विधायक अदिति की बगावत भी बीजेपी के नही आई काम

-:विज्ञापन:-

रिर्पोट -- रोहित मिश्र

मो -- 7618996633

रायबरेली- यूपी के रायबरेली पंचायत चुनाव  में न एमएलसी दिनेश सिंह  का कुनबा और न ही सदर विधायक अदिति सिंह  की कांग्रेस से बगावत ही काम आई. न कांग्रेस को नुकसान ही कर सकी, न बीजेपी को कोई फायदा. डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा के प्रभार वाले इस जिले में पार्टी 10 के अंक तक नहीं पहुंच पाई. लेकिन कांग्रेस और सपा को 11-11 सीटें मिली हैं. अब जिला पंचायत अध्यक्ष चुनने के लिए 20 अन्य की निर्णायक भूमिका होगी. लेकिन बहुजन समाज पार्टी का खाता तक नही खुला.

रायबरेली जिले में जिला पंचायत सदस्य की 52 सीटें हैं. कांग्रेस को 33 में से 10, सपा को 35 सीटों में से 14 पर कामयाबी मिली. सभी सीटों पर लड़ने के बावजूद पार्टी 9 सीट पर सिमट गई.पहली बार प्रमुख राजनीतिक दलों ने समर्थित प्रत्याशियों को चुनाव लड़ाया. कांग्रेस पहले ही सभी सीटों पर प्रत्याशी नही उतार सकी थी. उसने महज 33 वार्डों में चुनाव लड़ाया, जिसमें 10 सीटों पर उसे जीत हासिल हुई. सपा ने 35 सीटों पर प्रत्याशी उतारे, जिसमें से 14 पर वो कामयाब हुई. भाजपा ने जिस जोर-शोर से इस चुनाव में ताकत लगाई, उसका असर नजर नहीं आया. सभी सीटों पर प्रत्याशी उतारने के बावजूद वह 9 सीट पर ही सिमट कर गई.

प्रमुख विजेता और हारने वाले

पूर्व सांसद अशोक सिंह के बेटे मनीष सिंह की पत्नी आरती सिंह ने अमावां द्वितीय से जीत हासिल की है. जगतपुर से कांग्रेस के राकेश सिंह राना ने अपना जलवा दिखाया है. राही ब्लाक की तीनों सीटों पर जहां सपा समर्थित प्रत्याशी ने जीत हासिल की है, वहीं महाराजगंज प्रथम से पूर्व ब्लाक प्रमुख एवं सपा के पूर्व विधायक रामलाल अकेला के बेटे विक्रांत अकेला ने जीत हासिल की है. उन्होंने सपा से बागी प्रत्याशी को ही नहीं, बल्कि भाजपा के पूर्व विधायक राजाराम त्यागी को धूल चटाई है.

यही नहीं हरचंदपुर तृतीय से पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष एवं एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह की अनुज बधू सुमन सिंह चुनाव हार गई हैं. सुमन सिंह को सपा की शिवदेवी ने हराया है. भाजपा और बसपा के उम्मीदवार पिछड़े हुए हैं. हरचंदपुर प्रथम से जहां भाजपा समर्थित प्रत्याशी चुनाव हार गया है वहीं राघवेंद्र प्रताप सिंह निर्दलीय लड़कर चुनाव जीत गए हैं. यह अलग बात है कि राघवेंद्र सिंह एक वरिष्ठ भाजपा नेता के बेटे हैं.