पुराने राजनीतिक परिवार के सदस्य को सदर विधानसभा से चुनावी मैदान में उतार सकती है कांग्रेस

पुराने राजनीतिक परिवार के सदस्य  को सदर विधानसभा से चुनावी मैदान में उतार सकती है कांग्रेस
पुराने राजनीतिक परिवार के सदस्य  को सदर विधानसभा से चुनावी मैदान में उतार सकती है कांग्रेस

-:विज्ञापन:-

रिपोर्ट-शिवम त्रिवेदी

रायबरेली- रायबरेली की सदर विधानसभा सीट काफी मायनों में अहम रही है सदर विधायक अदिति सिंह या फिर उनके पिता स्वर्गीय पूर्व विधायक अखिलेश सिंह के तिलिस्म को तोड़ने के लिए कांग्रेस किसी भी मजबूत दावेदार को टिकट दे सकती है आपको बता दें कि सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार कांग्रेस रायबरेली सदर से किसी पुराने सक्रिय राजनीतिक परिवार के सदस्य को टिकट दे
सकती है यही नहीं अंदेशा यह भी लगाया जा रहा है कि जिसको भी टिकट देगी वह क्षत्रिय समाज से होगा। कहीं ना कहीं हाल ही में बीजेपी में शामिल हुई सदर विधायक अदिति सिंह को कड़ी चुनौती देने के उद्देश्य कांग्रेस खेला कर सकती है यही हाल कांग्रेस हरचंदपुर विधानसभा क्षेत्र से भी कर सकती है क्योंकि दोनों विधानसभा क्षेत्रों में कांग्रेस के विधायक थे लेकिन कुछ सालों से दोनों विधायक कांग्रेस से बागी दिखाई दे रहे थे और हाल ही में दोनों ने बीजेपी की सदस्यता ले ली जिसके बाद अब करो या मरो की नियत से कांग्रेस अपना खोया हुआ जनाधार वापस पाने के लिए अब मजबूत प्रत्याशियों की तलाश में जुट गई है ताकि वह इन दोनों सीटों पर वर्तमान विधायकों को कड़ी चुनौती दे सके।