मुंबई के खिलाफ जीत के बावजूद एमएस धोनी नहीं हैं खुश, कहा-टीम में सुधार की गुंजाइश है

मुंबई के खिलाफ जीत के बावजूद एमएस धोनी नहीं हैं खुश, कहा-टीम में सुधार की गुंजाइश है

पिछले साल वर्ल्ड कप टीम में नहीं चुने जाने के कारण चर्चा में रहे मिडिल ऑर्डर बैट्समैन अंबाती रायुडु की शानदार पारी और फाफ डु प्लेसिस के साथ उनकी शतकीय साझेदारी से चेन्नई सुपरकिंग्स ने शनिवार को मौजूदा चैंपियन मुंबई इंडियन्स को पांच विकेट से हराकर 13वें इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में अपने अभियान का जीत से आगाज किया। रायुडु ने 48 गेंदों पर छह चौकों और तीन छक्कों की मदद से 71 रन बनाए और फाफ डु प्लेसिस (44 गेंदों पर नाबाद 58, छह चौके) के साथ तीसरे विकेट के लिए 115 रन जोड़कर चेन्नई को खराब शुरुआत से उबारा। इस मैच के बाद सीएसके के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने बयान दिया है और अपनी टीम के कमियों पर बात की है।

'भारत में लोकप्रियता के मामले में सचिन तेंदुलकर-विराट कोहली से आगे निकल गए हैं एमएस धोनी'

धोनी ने मुंबई इंडियंस के खिलाफ जीत के बाद कहा कि काफी सकारात्मक पक्ष रहे लेकिन कुछ ऐसे विभाग हैं जिन पर काम करने की जरूरत है। खासकर टाइमिंग को लेकर। बाद में खेलते हुए ओस पड़ने तक थोड़ा मूवमेंट रहता था। ऐसे में अगर आपके पास विकेट बचे हों तो आप फायदे में रहते हो। यही धोनी का ही स्टाइल है कि टीम के जीतने के बाद भी वो ज्यादा खुश नजर नहीं आए ओर आगे अपने कमियों पर ध्यान देने की बात कही।

IPL 2020: मुंबई के खिलाफ मैच में धोनी ने बनाया कप्तानी का बड़ा रिकॉर्ड

कोरोना वायरस के चलते मार्च के बाद पहली बार प्रतिस्पर्धी मैच में उतरे टीम इंडिया के कई खिलाड़ियों का प्रदर्शन इस मैच में फीका ही रहा। दोनों टीमों का प्रदर्शन देखा जाए तो रोहित शर्मा, हार्दिक पांड्या, सूर्यकुमार यादव, क्रुणाल पांड्या, मुरली विजय, रवींद्र जडेजा, जसप्रीत बुमराह जैसे भारतीय दिग्गज खिलाड़ी अपना प्रभाव छोड़ने में सफल नहीं हो पाए। इस मैच में जीत दर्ज करने के साथ ही चेन्नई सुपर किंग्स ने काफी लंबे अरसे बाद मुंबई इंडियंस के खिलाफ जीत हासिल की। टीम को पिछले सीजन में रोहित शर्मा की टीम के खिलाफ एक भी मैच जीतने में सफलता हाथ नहीं लगी थी। 

फेसबुक पेज को लाइक करना बिल्कुल न भूले