रायबरेली- कांग्रेस से आरती तो सपा से विक्रांत जिला पंचायत अध्यक्ष पद के प्रबल दावेदार, जाने क्या कहता है समीकरण

रायबरेली- कांग्रेस से आरती  तो सपा से विक्रांत  जिला पंचायत अध्यक्ष पद के प्रबल दावेदार, जाने क्या कहता है समीकरण
रायबरेली- कांग्रेस से आरती  तो सपा से विक्रांत  जिला पंचायत अध्यक्ष पद के प्रबल दावेदार, जाने क्या कहता है समीकरण

-:विज्ञापन:-

स्पेशल स्टोरी

रिपोर्ट -- रोहित मिश्र
मो -- 7618996633

रायबरेली में जिला पंचायत अध्यक्ष की रेस में कांग्रेस से पूर्व सांसद स्व अशोक सिंह की बहू व कांग्रेसी नेता मनीष सिंह की पत्नी आरती सिंह प्रबल दावेदार के रूप में सामने आ सकती है वही समाजवादी पार्टी से बछरांवा विधानसभा से पूर्व सपा विधायक राम लाल अकेला के बेटे विक्रांत अकेला जिला पंचायत अध्यक्ष के प्रबल दावेदार हो सकते है साथ ही बीजेपी रंजना चौधरी पर दांव खेल सकती है। पर अगर कांग्रेस से आरती सिंह को जिला पंचायत अध्यक्ष का दावेदार बनाया गया तो यह मुकाबला काफी रोचक होगा क्योंकि आरती सिंह के ससुर रायबरेली से ही सांसद व जिला पंचायत अध्यक्ष भी रह चुके है साथ ही चचेरे ससुर बाहुबली स्व अखिलेश सिंह रायबरेली से पांच बार विधायक भी रह चुके है।  सभी 52 प्रत्याशियों में आरती सिंह सबसे प्रबल दावेदारों में से एक है। हर बार की तरह अगर समाजवादी पार्टी से कांग्रेस को वाक ओवर देते हुए कांग्रेस का समर्थन कर दिया तो 52 जिला पंचायत सदस्यों में 10 कांग्रेस के,  16  सपा के साथ ही 16 निर्दलीय मिला कर आरती का बहुमत सबसे आगे रहने की उम्मीद जताई जा सकती है। रुतबा, शोहरत और लोगो से जुड़ाव के मामले  में भी आरती सिंह सबसे आगे रहेगी।  अगर समाजवादी पार्टी कांग्रेस को वॉक ओवर नही देती है और अपना प्रत्याशी चुनावी मैदान में उतरती है तो चुनाव काफी रोचक होगा क्योंकि पूर्व विधायक राम लाल अकेला के बेटे विक्रांत अकेला की युवाओं में अच्छी खासी पैठी है और मैनेजमेंट गुरु भी साबित हो सकते है। वही अगर बीजेपी की बात की जाए तो रंजना चौधरी को अगर जिला पंचायत अध्यक्ष पद का दावेदार घोषित भी करती है तो संगठन की एका एक साथ कैसे खड़ी होगी यह जरूर मायने रखेगा।

एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह सदर विधायक अदिति सिंह व पूर्व कबीना मंत्री मनोज पांडेय की रहेगी अहम भूमिका

सबसे अहम बात तो यह है कि जनपद के तीन सबसे शसक्त नेता एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह, पूर्व कैबिनेट मंत्री मनोज पांडेय व सदर विधायक अदिति सिंह की जिला पंचायत अध्यक्ष पद के चुनाव में अहम भूमिका रहेगी। दिनेश सिंह जहाँ मैनेजमेंट व तोड़ जोड़ की राजनीति में सबसे आगे दिखेंगे तो वही मनोज पांडेय व अदिति की गुगली अलग ही दिशा तय करेगी। किसकी चित व किसकी पट होगी यह तो आने वाला समय बताएगा पर इस बार का जिला पंचायत अध्यक्ष पद का चुनाव काफी रोचक होने वाला है।