ऑनलाइन उपस्थिति के खिलाफ जूनियर शिक्षक संघ 11 जुलाई को करेगा प्रदर्शन

ऑनलाइन उपस्थिति के खिलाफ जूनियर शिक्षक संघ 11 जुलाई को करेगा प्रदर्शन

-:विज्ञापन:-

रिपोर्ट-ओम द्विवेदी(बाबा)
मो-8573856824

हजारों शिक्षकों के साथ में जूनियर शिक्षक संघ जिला मुख्यालय पर करेगा प्रदर्शन

ऑनलाइन उपस्थिति और डिजिटलाइजेशन के खिलाफ दर्जनों संगठनों के साथ करेगा प्रदर्शन

रायबरेली-ऑनलाइन उपस्थिति और डिजिटलाइजेशन के खिलाफ शिक्षकों का विरोध अनवरत जारी है। जूनियर हाईस्कूल शिक्षक संघ की तरफ से भी 11 जुलाई को जिला मुख्यालय पर विशाल धरना प्रदर्शन करते हुए मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजा जाएगा। मंगलवार को पूर्व माध्यमिक विद्यालय चक अहमदपुर में संघ की हुई। संयुक्त कार्यसमिति की बैठक में निर्णय लिया गया कि जब तक मांग नहीं पूरी होगी, तब तक शिक्षक ऑनलाइन हाजिरी बिल्कुल नहीं देगा। 

मंगलवार को हुई बैठक में जिला सरंक्षक समर बहादुर सिंह ने कहा कि शिक्षक के हित की लगातार लड़ाई लड़ी जा रही है। संगठन लगातार इसका विरोध करता आया है और आगे भी करता रहेगा। हमारे संगठन के आवाह्न पर इस समय शिक्षक काली पट्टी बांधकर विरोध कर रहे हैं। परिषदीय विद्यालयों में उपयोग होने वाले 12 रजिस्टरों के डिजिटलाइजेशन करने के साथ ही शिक्षक व शिक्षणेत्तर कर्मचारियों की हाजिरी भी ऑनलाइन लगाने के निर्देश दिए हैं। शिक्षक, शिक्षामित्र, अनुदेशक संघ इस व्यवस्था का विरोध लगातार कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि शिक्षकों में इस व्यवस्था के खिलाफ रोष व्याप्त है और 11 जुलाई को भी हजारों शिक्षकों के साथ में विरोध करेगा। 

जिलाध्यक्ष राघवेंद्र यादव ने कहा कि हम लोगों की बातों को जाने बिना और मांगों को पूरा किए बिना ही जबरदस्ती एक तुगलकी फरमान जारी करके आनलाइन उपस्थिति ली जा रही है। पहले 15 जुलाई से शिक्षकों की हाजिरी ली जानी थी, लेकिन शिक्षकों के विरोध और संगठन के 15 जुलाई को विरोध प्रदर्शन के प्रादेशिक आवाह्न को देखते हुए एक सप्ताह पहले ही उपस्थिति का आदेश जारी कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि हमारा संगठन लगातार इसका विरोध करता रहेगा। हम लोग अपनी मांगों को पूरा हुए बिना बिल्कुल ही हाजिरी नहीं देंगे। 
महामंत्री सियाराम सोनकर ने कहा कि शिक्षक, शिक्षामित्र, अनुदेशक, शिक्षणेत्तर कर्मचारी समन्वय समिति डिजिटाइजेशन व्यवस्था का पूर्णं बहिष्कार कर रहा है। 
डिजिटाइजेशन व्यवस्था के नाम पर जनपद के शिक्षक/शिक्षामित्र/अनुदेशक/शिक्षणेत्तर कर्मचारियों का किसी प्रकार का उत्पीड़न किया गया तो उसको बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। 
उपाध्यक्ष पन्नालाल और शांति अकेला ने कहा कि उत्तर प्रदेश जूनियर शिक्षक संघ, प्राथमिक शिक्षक संघ, उर्दू शिक्षक संघ, एससीएसटी शिक्षक संघ, आदर्श शिक्षा मित्र वेलफेयर एसोसिएशन, प्राथमिक शिक्षामित्र संघ, उत्तर प्रदेश महिला शिक्षक संघ, अनुदेशक एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष व अन्य पदाधिकारी के साथ में मिलकर विरोध प्रदर्शन करेगा। 

इस मौके पर शिवसागर पाल, कोषाध्यक्ष शिवशरण सिंह, नागेंद्र सिंह, रमेश सोनकर, सुरेंद्र वर्मा, हरिकेश यादव, लक्ष्मी सिंह, संजीव, सुरेश सिंह, राकेश, संदीप, विक्रमादित्य सिंह, सांसेद सत्येंद्र सिंह, आशीष तिवारी, शिवकुमार सिंह, सूर्य प्रकाश, दीपक, अजित सिंह, कुसुमचन्द्र, उमेश श्रीवास्तव आदि पदाधिकारी उपस्थित रहे।