रायबरेली-नहीं बना गोकना घाट , गोलाघाट से कांवडियां लेंगे जल , डीएम ने लिया जायजा

रायबरेली-नहीं बना गोकना घाट , गोलाघाट से कांवडियां लेंगे जल , डीएम ने लिया जायजा

-:विज्ञापन:-



      रिपोर्ट-सागर तिवारी

ऊंचाहार -रायबरेली -क्षेत्र के गोकना गंगा घाट के सौंदर्यीकरण  का काम पूर्ण नहीं हो पाया है। जिसके कारण से पूरा घाट गड्ढों में तब्दील है। इसलिए शुरू हो रहे सावन मास में कांवड़ियों को जल लेने के लिए गोलाघाट तय किया गया है ।मंगलवार को डीएम और सपा ने दोनों घाटों का जायजा भी लिया है।
      ज्ञात हो कि करीब तीन करोड रुपए लागत से गोकना गंगा घाट का सौंदरीकरण होना है। यह काम पर्यटन विभाग द्वारा कराया जा रहा है ।जिसके कारण गोकना गंगा घाट को खोद डाला गया है। जहां पर बड़े-बड़े गड्ढे बने हुए है। शुरू हो रहे सावन मास में बड़ी संख्या में कांवरिया यहां से जल लेकर विभिन्न शिवालयों में जलाभिषेक के लिए जाते हैं। गोकना गंगा घाट खोदा होने के कारण कांवड़ियों के लिए बगल के गोलाघाट से जल लेने  की व्यवस्था की गई है। मंगलवार को जिलाधिकारी हर्षिता माथुर और पुलिस अधीक्षक अभिषेक अग्रवाल ने दोनों घाटों का जायजा लिया है ।घाटों का निरीक्षण करने के बाद डीएम ने अधीनस्थों को सारी व्यवस्था पूर्ण करने के निर्देश दिए हैं। गंगा घाट पर आने वाले कांवड़ियों की सुरक्षा के लिए पुलिस अधीक्षक ने भी दिशा निर्देश दिए हैं। जलाभिषेक के दौरान गंगा तट पर गोताखोरो की व्यवस्था करने का निर्देश अधिकारियों ने दिया है। इस मौके पर एसडीएम सिद्धार्थ चौधरी कोतवाल अनिल कुमार सिंह समेत विभिन्न विभागों के अधिकारी व कर्मचारी मौजूद रहे।  गंगा घाट के वरिष्ठ पुरोहित जितेन द्विवेदी ने अधिकारियों को बताया कि यहां से जल लेकर कांवरिया अन्य जनपदों के शिवालियों में जलाभिषेक के लिए जाते हैं। जिनके लिए मार्ग की सुगमता की भी व्यवस्था की जाए।